Start Business With Railway – कम पैसे में शुरू करें रेलवे के साथ बिजनेस ! होगी कम इन्वेस्टमेंट में अच्छी कमाई ! Small Business Idea

कोरोना जैसी गंभीर वायरस के चलते आपकी नौकरी छूट गई हैं या आप कम रुपए खर्च करके किसी व्यापार को आरंभ करने का रणनीति बना रहे हैं । तो आपके पास रेलवे के साथ व्यापार करने का जबरदस्त मौका हैं और आप व्यापार आरम्भ करके काफी अच्छा इनकम कर सकते हैं । हालांकि, आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए चल रहे तरह तरह के स्कीम के माध्यम से इंडियन रेलवे ने लघु व्यापार, मध्यम व्यापार इत्यादि का अवसर दिया है ।

यहाँ भी पढ़े :- सीएससी डिजिटल सेवा केंद्र आरंभ करके कमाएं ढेर सारा लाभ,

Start Business With Railway

Start Business With Railway

रेलवे हर वर्ष खरीदता हैं करोड़ों रुपए का प्रोडक्ट?

इंडियन रेलवे हर वर्ष 70000 हजार करोड़ रुपए से अधिक के उत्पाद खरीदारी करता हैं । इन उत्पाद में टेक्निकल और इंजीनियरिंग प्रोडक्ट के साथ हर दिन इस्तेमाल करने वाली प्रोडक्ट भी होते हैं । ऐसे स्थिति में आप छोटे स्तर के व्यापारी के रूप में रेलवे को अपना उत्पाद बिक्री करके अपना ढेर सारा आमदनी कर सकते हैं । यदि आपकी इच्छा हैं की आप इंडियन रेलवे के साथ अपना व्यापार आरंभ करें तो आपको ireps.gov.in पर पंजिकरण करवाना होगा ।

यहाँ भी पढ़े :- पेटीएम सर्विस एजेंट बनकर कमाए हजारों रुपए महीने में

इस प्रकार रेलवे के साथ आरंभ करें अपना व्यापार?

रेलवे किसी भी प्रकार का उत्पाद उस कंपनी से खरीदारी करता हैं जो बाजार में सबसे सस्ते दामों में उत्पाद को बेच रहा हो । ऐसे स्थिति में आपको किसी ऐसे उत्पाद का चयन करना होगा जो आपको किसी बाजार से सस्ते रेट में प्राप्त हो जाए और इसे खरीदने में आपको किसी तरह का परेशानी ना हो । इसके अलावा आपको एक डिजिटल हस्ताक्षर बनवाना होगा । इसकी सहायता से आप रेलवे की ireps.gov.in वेबसाइट पर विजिट करके नए टेंडर देख सकते हैं । अपनी निवेश और मुनाफा के तहत टेंडर डाले । हालांकि, सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको रेट कॉम्पटीशन के अनुसार रखना होगा, तभी आपको बिना परेशानी के टेंडर मिल सकती हैं ।

हमारी कम्युनिटी ज्वाइन करे –

Whatapp ग्रुप ज्वाइन करेJoin
Youtube चैनल सब्सक्राइब करेSubscribe
Instagram पर फॉलो करेFollow
Telegram ग्रुप ज्वाइन करेJoin

रेलवे लोकल उत्पाद को दे रहा है बढ़ावा ?

रेलवे ने लोकल उत्पाद को आगे बढ़ावा देने के लिए निष्पक्ष खरीदारी के लिए एक सिस्टम तैयार किया है । हालांकि, केंद्र सरकार के द्वारा चलाई गई योजना मेक इन इंडिया के अंतर्गत रेलवे ने खुद के वैगन, एलएचबी डिब्बा, ट्रैक के टेंडर में 50 प्रतिशत से ज्यादा लोकल उत्पाद वाले निर्माता ही हिस्सा ले सकते हैं । अगर देखा जाए तो वंदे भारत ट्रेन सेट के लिए 75 प्रतिशत इलेक्ट्रॉनिक सामग्री मेक इन इंडिया के अंतर्गत खरीदारी की जाएगी ।

एमएसएमई को दिया जा रहा हैं बढ़ावा ?

रेलवे ने एमएसएमई को आगे बढ़ाने के लिए बहुत बड़ा फैसला लिया हैं । रेलवे के टेंडर की कीमत 25 प्रतिशत तक कि खरीदारी की जाएगी और इसमें 15 प्रतिशत तक कि प्राथमिकता दी जाएगी । इसके अलावा छोटे व्यापार को सेक्योरिटी जमा करने के लिए थोड़ी बहुत डिस्काउंट की जाएगी ।

नए पंजीकरण की आवश्यकता नहीं हैं ?

अगर कोई व्यापारी रेलवे के किसी भी डिपार्टमेंट में उत्पाद सप्लाई करने के लिए पंजीकरण करवा लेते हैं तो उस व्यापारी को रेलवे के हर सेक्टर में उत्पाद सप्लाई करने की अनुमति होती हैं और उन्हें दुबारा पंजीकरण करवाने की जरूरत नहीं पड़ती हैं ।

यहाँ भी पढ़े ;- मात्र 59 मिनट में लघु उद्योग के लिए प्राप्त कर सकते हैं लोन

हमारी कम्युनिटी ज्वाइन करे –

Whatapp ग्रुप ज्वाइन करेJoin
Youtube चैनल सब्सक्राइब करेSubscribe
Instagram पर फॉलो करेFollow
Telegram ग्रुप ज्वाइन करेJoin

careerbhaskar

करियर भास्कर हिंदी ब्लॉग/वेबसाइट है। इस वेबसाइट में आपको Useful Info, Jobs, Yojna, Earn Money, और Apps और Portal की Update मिलती है ! Note :- careerbhaskar.com का किसी भी दूसरी संस्था या वेबसाइट से कोई सम्बन्ध नहीं है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *