State Bank OF India Check CIBIL Score – ऐसे करें अपना सिविल स्कोर चेक, जानिए क्या हैं पूरी प्रक्रिया !

दोस्तों, आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताएंगे कि आप अपना सिविल स्कोर कैसे इंप्रूव करेंगे और इसमें आपको कौन – कौन सी सावधानी रखनी होगी । हालांकि, सबसे पहले आपको ये समझना होगा कि आप जब भी बैंक से ऋण लेने जाते हैं तो बैंक आपका सिविल स्कोर अवश्य चेक करता हैं । यदि आपका सिविल स्कोर कम होता है तो आपको ऋण लेने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा । यदि आपको ऋण मिल भी जाता है तो आपका इंटरेस्ट रेट काफी अधिक होगा ।

सर्वप्रथम आपको अपना सिविल स्कोर चेक करवाना होगा । इसके अलावा आपको ये जानकारी रखनी होगी कि सिविल स्कोर किन चीजों पर डिपेंड करता हैं । अगर देखा जाए तो आप पहले से ऋण ले चुके हैं और तय किए गए अवधि में बैंक को ऋण लौटा दिया है तो इसका अर्थ ये नहीं है कि आपका सिविल स्कोर बेहतर होगा । 

यहाँ भी पढ़े :-  कॉटन शर्ट का व्यापार शुरू करें और कमाएं ढेर सारा लाभ 

State Bank OF India Check CIBIL Score

State Bank Of India Check CIVIL Score, SBI CIVIL News, SBI CIVIL Score Update, How To Check My CIVIL Score
State Bank OF India Check CIBIL Score

आपका सिविल स्कोर 35 प्रतिशत पेमेंट हिस्ट्री, 30 प्रतिशत अमांउट ऑनेड की आपके पास कितनी liability है, 10 प्रतिशत क्रेडिट कार्ड जो आप अलग अलग इस्तेमाल किए होंगे, 10 प्रतिशत नए क्रेडिट कार्ड जो आप नए ऑर्डर किए होंगे, 15 प्रतिशत क्रेडिट हिस्ट्री जो भी आपका पुराना हिस्ट्री हो । ये जितना बेहतर होगा, उतना ही सिविल स्कोर बढ़ेगा ।

किन – किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए ?

सबसे पहले आपको क्रेडिट कार्ड के बिल या आप किसी प्रकार का ऋण ले रखे हैं तो उसका EMI समय रहते पेमेंट करें । इसमें आप किसी भी प्रकार का कोई समझौता ना करें, जो भी टाइम दिया गया है उसी टाइम पर EMI पेमेंट करें । 

यहाँ भी पढ़े :- अगर आप भी पीएम पेंशन योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो

  • एक बार में अधिक लोन ना लें !

अगर आप किसी काम के लिए ऋण लेते हैं तो किसी एक काम के लिए लोन लें तो बेहतर होगा । बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं जो होम लोन, पर्सनल लोन इत्यादि कई सारे ऋण ले लेते हैं और बाद में चिंतित हो जाते हैं और उनका आगे का जीवन काफी परेशानियों से भरा होता हैं । हालांकि, आप जब भी ऋण लेने के लिए आवेदन करें तो किसी काम को लेकर करे, नहीं तो बिना कार्य का लोन ना लें तो बेहतर होगा ।

  • रिव्यू

अगर आप किसी लोन में ग्रांटर के रूप में हैं या फिर ज्वाइंट ऐप्लिकेंट के रूप में हैं तो अगर वो व्यक्ति EMI पेमेंट नहीं करता हैं तो आप हर 6 माह में रिव्यू करते रहें । अगर वो व्यक्ति पेमेंट नहीं करता है तो इससे आपके क्रेडिट स्कोर पर बुरा प्रभाव पड़ेगा ।

  • क्रेडिट रिपोर्ट

आप हमेशा करीब 6 माह में अपनी क्रेडिट रिपोर्ट देखते रहें, इससे आपको ये जानकारी हो जाएगी की जो रेगुलर EMI पेमेंट कर रहा है तो उसमें किसी भी प्रकार का कोई डिफॉल्ट तो नहीं हैं । इसके अतिरिक्त कहीं आपने ऋण नहीं लिया और वो आपके क्रेडिट स्कोर में शो कर रहा है तो उसके लिए आपको टिकट लेना होगा सिविल के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर, तो कुछ टाइम बाद वो समस्या दूर हो जाएगी ।

  • हिस्ट्री

सिविल स्कोर में जो अधिक महत्वपूर्ण होता है वो है हिस्ट्री । अगर मेरी सलाह माने तो आप जो भी लोन लिए हैं तो आप उसका EMI रेगुलर पेमेंट करें । ऐसा इसलिए क्योंकि आज के वक्त में आप डिफॉल्ट करते हैं तो जो सिविल में रिफ्लेक्शन आता है तो खराब आता हैं । सिविल स्कोर में आपका कम से कम 36 माह का हिस्ट्री बेहतर होना चाहिए ।

यहाँ भी पढ़े :- अगर आपको आधार कार्ड पीवीसी ऑर्डर करने में हो रही है परेशानी

हमारी कम्युनिटी ज्वाइन करे –

Whatapp ग्रुप ज्वाइन करेJoin
Youtube चैनल सब्सक्राइब करेSubscribe
Instagram पर फॉलो करेFollow
Telegram ग्रुप ज्वाइन करेJoin

careerbhaskar

करियर भास्कर हिंदी ब्लॉग/वेबसाइट है। इस वेबसाइट में आपको Useful Info, Jobs, Yojna, Earn Money, और Apps और Portal की Update मिलती है ! Note :- careerbhaskar.com का किसी भी दूसरी संस्था या वेबसाइट से कोई सम्बन्ध नहीं है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close