[जाने ?] भक्ति काल को स्वर्ण युग क्यों कहा जाता है | Bhakti Kaal Ko Swarna Yug Kyun Kahaa Jata Hai

Bhakti Kaal Ko Swarna Yug Kyun Kahaa Jata Hai?

भक्ति काल को स्वर्ण युग क्यों कहा जाता है?

ग्रंथों में भक्ति संबंधित रचनाओं के साथ-साथ काव्य के आवश्यक अंग रस, छन्द, अलंकार, बीम्ब, प्रतीक दोहा, सोरठा, योजना रुपक भाव का सुन्दर चित्रण हुआ है। इस प्रकार भक्ति काल का महत्व साहित्य और भक्ति भावना दोनों ही दृष्टियों से बहुत अधिक है। इसी कारण भक्ति काल को स्वर्ण युग कहा जाता है।

Rahul

Hello Friends, मेरा नाम राहुल है। और अभी careerbhaskar.com ब्लॉग में एक फुल टाइम कंटेंट राइटर हु। मुझे लोगो को ऐसी जानकारी देना बहुत पसंद है, जो उनकी डेली लाइफ में काम आ सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close