4 Best Business Loan Ideas: शुरू करना चाहते हैं खुद का बिज़नेस ? तो सरकार इस तरह से करेगी आपकी मदद !

Best Business Loan Ideas

Business Loan Ideas in Hindi, PM Mudra Yojna, Stand up India Scheme, CGTMSE Scheme, Food Processing Scheme

हम आपके लिए हर दिन कोई न कोई Business Idea लेकर आते है और आप में से कई लोग इन्हें पसंद भी करते हैं और शुरू करना चाहते है, लेकिन अधिकतर लोग नही कर पाते, जिसका एकमात्र कारण पूंजी का इंतजाम न हो पाना है।

बड़े बड़े बिज़नेस तो IPO जारी करके आम जनता से पैसा ले लेते है, वही कई बड़ी कंपनियां भी उन्हें Financial Support दे देती है, लेकिन ऐसे लोग जो एक छोटा सा Startup करना चाहते है, जिनका Business Model ऐसा नही है कि कोई Investor आसानी से उस Project पर Invest करनी की सोचे, ऐसे लोगो का Fund इकट्ठा नही हो पाता। 

तो यदि आप भी ऐसी श्रेणी में है, यानी एक Business Idea है, पर समझ नही आ रहा कि पैसे का जुगाड़ कहाँ से लगे तो आज आपके सभी सवालों का जवाब इस आर्टिकल में मिलेगा। आज हम जानेंगे कि अपने छोटे से Startup के लिए पैसों का इंतजाम कैसे करें? 

सरकार चला रही है कई योजनाएं

पिछले कुछ सालों में यह देखने में आया है कि केंद्र सरकार नए Startups को खूब Promote कर रही है। सरकार का कहना ही है कि नया काम शुरू करिए और दूसरे लोगो को काम दीजिये। पर सरकार यह भी जानती थी कि सब इतने सक्षम नही हैं कि महँगे Loan ले सकें। इसलिए सरकार ने कई ऐसी योजनाएं चलाई है जिसमें MSME के लिए बहुत कम ब्याज में Loan मिलता है। इसके लिए कोई Security भी नही रखनी पड़ती। बस जरूरत है तो एक दमदार Business Plan की, जो Business को सफल बना दे। 

तो यदि आप भी Business शुरू करने की सोच रहे हैं तो आप निम्नलिखित योजनाओं से पैसा ले सकते हैं।

मुद्रा योजना

छोटे व्यवसायों को शुरू करने और उन्हें स्थापित करने के लिए सरकार ने मुद्रा Loan योजना शुरू की है। इस योजना के तहत आपको 10 लाख रु तक अधिकतम loan मिल सकता है, न्यूनतम loan की कोई सीमा नही है। अब इस Loan की सबसे खास बात ये है कि यहाँ Loan लेते समय आपको कोई Security नही जमा करनी पड़ेगी। यानी अमूमन जब हम Loan लेते है तो हमारे जमीन के कागज या ऐसी ही किसी पूंजी को गिरवी रखनी पड़ती है, पर इसमे ऐसा कुछ नही है। 

मुद्रा loan योजना के तहत आपको तीन तरह का Loan मिल सकता है:- 

  • शिशु लोन (5,0000 तक) 
  • किशोर लोन (50 हजार – 5 लाख तक) 
  • तरुण लोन (5 लाख- 10 लाख तक) 

यदि आपके पास Business शुरू करने के लिए बिलकुल भी पैसा नही है तो शिशु लोन ले सकते हैं। इसकी सीमा 50 हजार रूपए तक है। 

अब यदि आपने Business तो शुरू कर लिया है लेकिन अभी तक अच्छे से स्थापित नही हो पाया तो किशोर लोन ले सकते हैं। इसकी सीमा 50 हजार से 5 लाख रूपए तक है। 

अपने किसी स्थापित Business को और आगे बढ़ाने के लिए तरुण लोन ले सकते है जिसकी सीमा 5 लाख से 10 लाख रु है। 

लेकिन ये लोन आपको तभी मिलेगा जब आपको यह पूरी तरह पता हो कि आप अपने Business का विकास कैसे करेंगे। कच्चा माल कहा से मिलेगा, Product कहा और कैसे बेचेंगे, इन सब सवालों के जवाब आपको लोन लेते वक्त देने पड़ेंगे। यदि बैंक के अधिकारी आपकी योजना से संतुष्ट होते है, तभी आपको Loan मिल पायेगा। 

Stand-up India Scheme

इस योजना के तहत 10 लाख से लेकर 1 करोड़ तक का Loan मिल सकता है, बहुत ही कम ब्याज दर पर। Loan वापस करने की अवधि भी 7 वर्ष की होती है, लेकिन यह योजना सभी के लिए नही है। केवल, अनुसूचित जाति/जनजाति और महिला ही इस Loan के लिए आवेदन कर सकती है। 

सरकार की यह मुहिम है कि SC/ST और महिलाएं भी उद्योग में सक्रिय भूमिका निभाएं। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर, सर्विस सेक्टर और व्यापार क्षेत्र के Business के लिए ही यह Loan मिल सकता है। इस Loan के साथ एक और शर्त है, वह यह है कि Loan लेने वाले व्यक्ति का यह पहला Business हो। यानी यह Loan सिर्फ Business शुरू करने के लिए है। 

यह Loan भी Manufacturing, Service और Trading Sector के Businesses के लिए ही मिलेगा। कुल जरूरत राशि का करीब 75% लोन आपको मिल सकता है। इसके लिए भी आपको Security जमा करने की जरूरत नही है क्योंकि CGTMSE के द्वारा सरकार, Bank को क्रेडिट गारंटी देती है। आप एक Company है तो भी इस योजना से Loan ले सकते है, बस Company का 51% मालिकाना हक किसी महिला, या Sc/St के पास होना चाहिए।

CGTMSE Scheme

क्रेडिट गारंटी फंड्स फॉर माइक्रो एंड स्मॉल एंटरप्राइजेज, इसको साल 2000 में शुरू किया गया था। इसे शुरू करने का मुख्य उद्देश्य था, लघु उद्योगों को भी आसानी से लोन मिल सकें। अमूमन हर बैंक, लघु उद्योगों को लोन आसानी से नही देती थी, क्योंकि उन्हें यह डर था कि लोन वापस मिलेगा या नही। ऐसे व्यक्ति जो लघु उद्योगों शुरू करते है, उनके पास इतनी पूंजी नही होती, जिससे bank अपना लोन वसूल कर सकें। इसलिये वर्ष 2000 में सरकार ने CGTMSE गारंटी स्कीम शुरू की थी। 

इस स्कीम के द्वारा सरकार, ऐसे उन वित्तीय संस्थानों को Credit गारंटी देती है, जो ऐसे लघु और सूक्ष्म उद्योगों को Loan देती है। यदि आपका Project भी Loan के लिए चुन लिया जाता है तो 80-85% Loan की Credit गारंटी सरकार देती है। तो आप इसके लिए भी Apply कर सकते है। पर यहाँ भी वही बात लागू होती है कि आपके पास एक जबरजस्त आईडिया हो। आप कैसे इस Business को सफल बनाएंगे उसका Clear Road Map आपके पास हो, तभी Loan का Approval मिल पायेगा। 

Food Processing Scheme

ऊपर बताई सभी लोन योजनाएं Manufacturing, Service और Trading Sector के लिए है। अब यदि कोई Food Processing Business शुरू करना चाहता है तो वह क्या करें? तो इसके लिए भी सरकार ने Loan योजना शुरू की है। Food Processing Scheme के माध्यम से आपको Business Setup की कुल लागत का 35 से 50% तक मिल सकता है। 

हमारे राज्यो को दो Category में रखा गया है, Regular State और Difficult State. यदि आप Regular State में रहते है तो कुल लागत का करीब 35% आर्थिक सहायता मिल सकती है। वही यदि आप Difficult State में रहते है जैसे कि जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश में रहते है वहाँ Food Processing Business शुरू करने के लिए कुल लागत का 50% सरकार आर्थिक सहायता के रूप में दे सकती है। 

तो यह Scheme भी काफी फायदेमंद है। Food Processing Business चाहे शुरू करना हो या Grow करना हो दोनो Condition में यह Loan ले सकते हैं। 

निष्कर्ष

तो आपने जाना कि कोई Business शुरू करने के लिए आप पैसा किन योजनाओं से ले सकते हैं। आप कौन सा Business शुरू करना चाहते है, हमें Comment करके बता सकते है, और इनमे से किसी योजना के बारे में Detail में जानकारी चाहिए तो वह भी Comment करके बता सकते हैं। 

Join Our Community –

Join Our WhatsApp GroupJoin Now
Join Our Telegram ChannelJoin Now
Subsribe Our Youtube ChannelSubscribe Now

Sanjay Pathekar

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम संजय पाठेकर है। और पेशे से मै एक ब्लॉगर,यूट्यूबर हूँ। मै इस ब्लॉग पर पिछले 3 साल से Yojna, Jobs, Earn Money and Useful Info सम्बंधित जानकारी दे रहा हु। इस ब्लॉग के माध्यम से आपको ऐसी उपयोगी जानकरी देना है, जो आपके व्यावहारिक जीवन में काम आ सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *